web
statistics

साइबर क्राइम के बारे में जानकारी. What is Cyber crime

दोस्तों आज इस आर्टिकल में मैं आपको साइबर क्राइम क्या है और उसके बारे में पूरी जानकारी दूंगा.  जिस तरीके से हर चीज डिजिटल यानी हर चीज इंटरनेट के द्वारा की जाने लगी है हम चाहें तो अपने बैंक अकाउंट आधार कार्ड यह किसी भी प्रकार की जानकारी को आसानी से इंटरनेट के द्वारा ले सकते हैं.  या चाहे तो किसी और की भी जानकारी को इंटरनेट के द्वारा या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के द्वारा देख सकते हैं. जैसे जैसे इंटरनेट का यूज बढ़ रहा है और हम अपनी सभी प्रकार की जानकारियों को इंटरनेट से देख सकते हैं और इंटरनेट के थ्रू हम अपने बैंक से रिलेटेड काम,  क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से रिलेटेड सारे काम इंटरनेट के थ्रू करते हैं. जैसे कि हमें रिचार्ज करना है बिल का भुगतान करना है तो हम किसी भी वेबसाइट पर या ऐप पर जाकर के अपने मोबाइल को रिचार्ज कर लेते हैं, या बिल का भुगतान कर लेते हैं. या जैसे इंटरनेट के थ्रू हम अपने बैंक अकाउंट से किसी भी दूसरे के बैंक अकाउंट में मनी ट्रांसफर कर सकते हैं.

Cyber crime

यह सुविधाएं तो मिली है हमें लेकिन इन सुविधाओं के साथ साथ ही साइबर क्राइम भी बढ़ता जा रहा है.  साइबर क्राइम का मतलब इंटरनेट में आप की जानकारी को चोरी कर देना साइबर क्राइम है. आप की किसी भी प्रकार की पर्सनल यह सिक्योर इंफॉर्मेशन को यदि कोई हैक कर लेता है या चुरा लेता है तो उसी को साइबर क्राइम कहते हैं.

आजकल साइबर क्राइम की आप बहुत सारी न्यूज़ पढ़ रहे होंगे या TV में देख भी रहे होंगे,  जैसे – जैसे साइबर का यूज किया जा रहा है वैसे – वैसे ही साइबर क्राइम  भी बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है. आए दिन आप सुनते होंगे कई लोगों के बैंक अकाउंट से लाखों रुपए चोरी हो गए हैं.  या आपके इंफॉर्मेशन चोरी कर दी गई है, यही साइबर क्राइम है.

cyber security

साइबर क्राइम से कैसे बचें

  1. जब भी आप अपने बैंक अकाउंट को इंटरनेट में लॉगिन करते हैं तो यह सुनिश्चित कर लें कि आप जिस भी वेबसाइट पर अपना लॉगिन और पासवर्ड भूल कर रहे हैं क्या वह आपके बैंक की यही सच्चाई है या नहीं.  क्या उस वेबसाइट का एड्रेस https:// से शुरू हो रहा है या नहीं. जब आप यह सारी बातें सुनिश्चित कर लें तब भी अपने बैंक अकाउंट का लॉगिन और पासवर्ड वहां पर डालें. कभी भी किसी भी दूसरी वेबसाइट में जो आपके बैंक अकाउंट कि नहीं है अपना बैंक अकाउंट का लॉगिन और पासवर्ड लगा.
  2. जब भी आप किसी भी Browser को यूज करते हैं और किसी भी वेबसाइट में जाकर के लॉगइन करते हैं या रजिस्ट्रेशन करते हैं तो वह ब्राउज़र आपको पूछता है क्या आप अपने  लॉगिन पासवर्ड को चेंज करना चाहते हैं, तो कभी भी आप अपने दुख लॉगिन पासवर्ड जाने किसी भी बैंक अकाउंट से लॉगिन पासवर्ड को अपने ब्राउज़र में सेव न करें. अगर आप करना भी चाहते हैं तो अपने  लैपटॉप या डेस्कटॉप पर लॉगिन पासवर्ड जरूर डालें.
  3. किसी भी प्रकार की गलत साइड में जा कर के अपने इंफॉर्मेशन को बाहर ना डालें हो सकता है उस इंफॉर्मेशन के जरिए वह गलत साइड आपके ईमेल अकाउंट Facebook अकाउंट या बैंक अकाउंट की डिटेल्स को हैक कर सकते हैं.
  4. अपने लैपटॉप या मोबाइल में एंटीवायरस सॉफ्टवेयर जरूर डालें.  बहुत सारे केस में ऐसा होता है कि आपके लैपटॉप या मोबाइल में वायरस आ जाते हैं और वह वायरस आपकी सभी प्रकार की इंफॉर्मेशन को हैक करके हैकर्स को भेज सकता है.  तो आप अपने लैपटॉप या मोबाइल में एंटीवायरस सॉफ्टवेयर डाल कर रखें और उसको समय-समय पर अपडेट करते रहें.
  5. जब भी आप ऑनलाइन अपने बैंक अकाउंट को लॉगिन करते हैं तो आप अपने कीबोर्ड की बजाए वर्चुअल कीबोर्ड का इस्तेमाल करें.

तो दोस्तों यह कुछ बेसिक जानकारियां मैंने आपको साइबर क्राइम के बारे में दी है कि साइबर क्राइम क्या है और कैसे करके हैकर्स आपकी इंफॉर्मेशन को चुराते हैं.  और आप किस तरीके से साइबर क्राइम होने से बच सकते हैं. अगर आप इन सभी जानकारियों को ध्यान रखकर आज के समय में इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो आप हैकिंग से बच सकते हैं.

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसको ज्यादा से ज्यादा अपने सोशल मीडिया में शेयर करें जिससे कि और लोग भी साइबर क्राइम होने से बचे.  और अपनी इंफॉर्मेशन को सुरक्षित कर पाएं. अगर आप साइबर क्राइम के बारे में और जानकारी पाना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में अपना कमेंट लिखे,  यदि आप इसके अलावा कुछ भी जानकारी पाना चाहते हैं तो आप अपने सवाल नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं.

Leave a Reply